1-100101-200201-300301-400401-500501-600

Monday, March 15, 2010

228

1 comment:

  1. अद्भुत है आपका काम...
    इन अनूठे ब्लॉग के लिए बधाई और शुभकामनाएं...
    जिन दिनों आपने ये माचिसें चुनी होंगी, उस समय उतना ही जुनून इनके लिए रहा होगा, जितना अब आप में ब्लॉगिंग के लिए है...
    मुझे भी अपने वो दिन याद आ रहे हैं, जब माचिस के ये कवर इकट्ठे कर घूमते हुए पूरा दिन हम इन से ही खेलने में बिता देते थे...
    वो खेल वो साथी याद आ रहे हैं,
    धन्यवाद भाई साहब.

    ReplyDelete